Today News Hunt

News From Truth

उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर ने हि.प्र. औद्योगिक विकास निगम को विभागीय गतिविधियों में विविधता लाने के दिए निर्देश

1 min read
Spread the love

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने आज शिमला में आयोजित हिमाचल प्रदेश औद्योगिक विकास निगम लिमिटेड के निदेशक मण्डल की 272वीं बैठक की अध्यक्षता की।  इस अवसर पर निगम के उपाध्यक्ष प्रो. राम कुमार भी उपस्थित थे।

बैठक में बिक्रम सिंह ने अधिकारियों को निगम की गतिविधियांे में विविधता लाने के निर्देश दिए, ताकि प्रतिस्पर्धा के इस दौर में निगम की कार्यशाली में गुणवत्ता व दक्षता लाई जा सके। उन्होंने निगम को टेंडर प्रक्रिया सीपीडब्ल्यूडी के मैनुअल के अनुरूप अपनाने को कहा।

उद्योग मंत्री ने कहा कि एचपीएसआईडीसी के अभियांत्रिकी विंग को और सुदृढ़ करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस विंग के कार्यों को बिस्तार देकर आय में आशातीत बृद्धि की जा सकती है। उन्होेंने अधिकारियों को कहा कि वह अन्य राज्यों में स्थित निगम की परिसम्पतियों का सदुपयोग करने के लिए बृहद रणनीति तैयार करें।

बिक्रम सिंह ने निगम के विपणन विंग को सशक्त करने तथा इसकी गतिविधियों को बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विपणन के लिए नई क्रियाविधि विकसित की जानी चाहिए तथा उपभोक्ताओं की जरूरत के अनुसार प्रभावी तरीके से कार्य सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

प्रो. राम कुमार ने ऊना में लैंड बैंक विकसित करने और निगम की गतिविधियों में नवाचार लाने के लिए विभिन्न सुझाव दिए। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग राम सुभग सिंह ने निगम द्वारा निर्माणाधीन परियोजनाआंे को प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र पूर्ण करने की आवश्यकता पर बल दिया।

बैठक में विभिन्न परियोजनाओं के कार्य की समीक्षा भी की गई।

निगम के अधिकारियों ने अवगत करवाया कि वित्त वर्ष 2020-2021 में औद्योगिक विकास निगम का अनुमानित लाभ 7.48 करोड़ रुपये होने की संभावना है। वित्त वर्ष 2021-22 में निगम का अनुमानित लाभ 10 से 12 करोड़ और वार्षिक टर्नओवर लगभग 100 करोड़ रुपये होने का अनुमान है।

निगम के प्रबन्ध निदेशक हंस राज चैहान ने कार्यवाही का संचालन किया।

बैठक में निदेशक मण्डल के सदस्य चमन लाल और जवाहर शर्मा व अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed