Today News Hunt

News From Truth

सत्येन वैद्य बने प्रदेश उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश, मुख्य न्यायाधीश ने दिलाई शपथ

1 min read
Spread the love

शिमला, 26 जून
सत्येन वैद्य को आज हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एल. नारायण स्वामी द्वारा उच्च न्यायालय में आयोजित एक साधारण एवं गरिमापूर्ण समारोह में शपथ दिलाई गई।
शपथ समारोह में हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति तरलोक सिंह चौहान, न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर, न्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुर, न्यायमूर्ति संदीप शर्मा, न्यायमूर्ति चन्द्र भूषण बरोवालिया, न्यायमूर्ति अनुप चितकारा तथा न्यायमूर्ति ज्योत्सना रेवाल दुआ उपस्थित थी।
शपथ समारोह के दौरान हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में सत्येन वैद्य को भारत के राष्ट्रपति द्वारा जारी नियुक्ति पत्र को उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल वीरेन्द्र सिंह ने पढ़कर सुनाया।
न्यायमूर्ति सत्येन वैद्य का जन्म 22 दिसम्बर, 1963 को एच.एल. वैद्य और श्रीमती प्रकाश वैद्य के यहां मण्डी में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा लालपानी शिमला, स्नातक की पढ़ाई 1983 में राजकीय महाविद्यालय संजौली तथा कानून की शिक्षा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से 1986 में की तथा 1986 से लेकर 2009 तक जिला शिमला में जिला न्यायालयों में इनके द्वारा अभ्यास करना शुरू किया गया तथा तदोपरांत 2009 में हिमाचल प्रदेश के उच्च न्यायालय में उन्होंने दीवानी, आपराधिक, संवैधानिक, सेवा और मध्यस्तथा मामलों में कानून का अभ्यास किया। इन्होंने हिमाचल प्रदेश के उच्च न्यायालय में कई मामलों में न्यायमित्र होने के अलावा मध्यस्तथा के मामलों में व्यापक कार्य किया। इन्हें 2015 में वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में नामित किया गया था।
इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के सेवानिवृत न्यायाधीश कुलदीप सिंह, महाधिवक्ता अशोक शर्मा, बार काॅउसिंल ऑफ हिमाचल प्रदेश के अध्यक्ष अजय कोचड़, सहायक सालिस्टर जनरल ऑफ़ इंडिया बलराम शर्मा, रजिस्ट्रार सतर्कता डाॅ. बलदेव सिंह, उच्च कार्यालय कानूनी सेवा समिति रजिस्ट्रार मुकेश बसंल, उच्च न्यायालय कानूनी सेवा समिति रजिस्ट्रार (न्यायिक) विकास भारद्वाज, रजिस्ट्रार (नियम) अजय मेहता, सीपीसी मोहित बंसल, लेखा पंचायक देवेन्द्र चैपड़ा, पंचायक स्थापना पूनम महाजन एवं अन्य रजिस्ट्रार तथा अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित थे।
.0.

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *